Ferozepur News

डीसीएम ग्रुप का अलियांस फ्रांसैस के साथ एमओयू हस्ताक्षरित, फ्रैंच में मुहारत हासिल कर पाएंगे विद्यार्थी

वैश्वीकरण के युग में विद्यार्थियों को गलोबल सिटीजन बनाने पर दिया जा रहा जोर

डीसीएम ग्रुप का अलियांस फ्रांसैस के साथ एमओयू हस्ताक्षरित, फ्रैंच में मुहारत हासिल कर पाएंगे विद्यार्थी
-वैश्वीकरण के युग में विद्यार्थियों को गलोबल सिटीजन बनाने पर दिया जा रहा जोर, फ्रैंस व क्यूबेक में उच्च स्तरीय शिक्षण संस्थानो में एडमिशन लेने में मिलेगी सहायता-

डीसीएम ग्रुप का अलियांस फ्रांसैस के साथ एमओयू हस्ताक्षरित, फ्रैंच में मुहारत हासिल कर पाएंगे विद्यार्थी
फिरोजपुर, 15.1.2021: वैश्वीकरण के इस युग में विद्यार्थियों में फ्रैंच भाषा व संस्कृ़ति को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से व उनके व्यक्तित्व के चहुमुखी विकास के लिए डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स द्वारा अंर्तराष्ट्रीय एजेंसी अलियांस फ्रांसैस के साथ एमओयू हस्ताक्षर किया है। यह एजंसी फ्रैंच एंबेसी के निर्देशो मुताबिक कार्य करती है और विश्व में फ्रैंच भाषा का प्रचार-प्रसार व सभ्याचार को प्रमोट करना इसका मुख्य कार्य है। इसके माध्यम से डीसीएम के विद्यार्थी फ्रैंच में मुहारत हासिल कर पाएंगे।
असिस्टैंट सीईओ गोपन गोपालदास ने बताया कि अलियांस फ्रांसैस द्वारा डीसीएम के अध्यापको व विद्यार्थियों को फ्रैंच के बारे में ट्रेनिंग दी जाएगी और और वहां के कल्चर के बारे में अवगत करवाया जाएगा। डीसीएम के विद्यार्थी फ्रांस की कल्चर द क्यू लाइब्रेरी के माध्यम से फ्रैंच की किताबो का ज्ञान ले सकेंगे और उन्हें स्टूडैंस एक्सचेंज में भी मदद मिलेगी, जिसके माध्यम से वहां के विद्यार्थियों से अपने विचारो को सांझा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि फ्रैंच में स्किल्स हासिल करने वाले विद्यार्थियों को अलियांस फ्रांसैस द्वारा सर्टीफिकेट भी मुहैया करवाए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि वैश्वीकरण के इस दौर में डीसीएम के हर विद्यार्थी को गलोबल सिटीजन बनाना है ताकि वह २१वी शताब्दी की जरूरतो मुताबिक स्किल्स में बढ़ौतरी कर पाए और उसे विदेश में जाने पर भी किसी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि इस समझौते से डीसमए के विद्यार्थियों को फ्रांस व क्यूबेक में हॉयर एजुकेशन में एडमिशन लेने के लिए सहायता मिलेगी। डीसीएम के सभी स्कूलो में तीसरी कक्षा से ही विद्यार्थियों को फ्रैंच की शिक्षा दी जाती है ताकि बच्चे सर्वगुण सम्पन्न बन सके। डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स की तरफ से सीईओ अनिरूद्ध गुप्ता तथा अलियांस फ्रांसैस से डॉयरैक्टर चंडीगढ़ ओफली बैलों ने हस्ताक्षर किए।
असिस्टैंट सीईओ करणदीप सिंह ने कहा कि शीघ्र ही डीसीएम के विद्यार्थी कैनेडा, आस्ट्रेलिया तथा अन्य देशो के विश्वविद्यालयों में एडमिशन लेना भी आसान होगा। इससे पहले डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स द्वारा सीटी यूनिवर्सिटी, आईआईटी रोपड़, शूलिनी यूनिवर्सिटी, विश्व विख्यात खान अकैडमी, अमेरिका की गलोबल बॉडी एक्सचेंज कंपनी तथा हाऊटन अकैडमी के साथ एक एमओयू हस्ताक्षर कर डीसीएम-अमेरिकन गलोबल स्टूडैंट एक्सचेंज प्रोग्राम आरम्भ किया है। इसका विद्यार्थियों को इसका काफी लाभ मिल रहा है। डीसीएम द्वारा विद्यार्थियों को स्किल्स डिवैल्प करने की ट्रेनिंग दी जा रही है। वहीं विज्ञान व तकनीक की आधुनिक प्रणाली तथा एमरजिंग कैरियर के बारे में गाइडैंस देने के साथ-साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक पर भी जोर दिया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close