News

टैड एक्स में डीसीएम के विद्यार्थियों ने जाने जीवन में सफलता हासिल करने के गुर

चंडीगढ़ के टैगोर थियेटर में जीवन में उच्च मुकाम हासिल करने वाली नामी हस्तियों ने लिया हिस्सा

टैड एक्स में डीसीएम के विद्यार्थियों ने जाने जीवन में सफलता हासिल करने के गुर
-चंडीगढ़ के टैगोर थियेटर में जीवन में उच्च मुकाम हासिल करने वाली नामी हस्तियों ने लिया हिस्सा-


फिरोजपुर 13 जनवरी, 2020: विद्यार्थियों को जीवन में आगे बढ़ऩे का जज्बा पैदा करने के मंत्तव से चंडीगढ़ के टैगोर थिएटर में टैड-एक्स द्वारा द फ्यूचर री इमैजेंड थीम पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसमें डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स के 100 से ज्यादा विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में जीवन में मुश्किल घड़ी का सामना कर उच्च मुकाम हासिल करने वाली नामी हस्तियों ने अपने तजुर्बे सांझे किए।
डीसीएम समूह के डिप्टी हैड एकैडमिक्स योगिता पुरी ने बताया कि इस कार्यक्रम में दास एंड ब्राऊन वल्र्ड स्कूल, डीसीएम सीनियर सैकेंडरी स्कूल, डीसीएम इंटरनैशनल स्कूल च डीसीएम प्रैजेडेंसी स्कूल लुधियाना के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया । इस कार्यक्रम में विश्व की जानी-मानी हस्तियों में शामिल पहला मानव रोबट सोफिया बनाने वाले डा: अमित पांडे, ब्रिटिश एक्टर जस्सा आहलूवालिया, फूड लैब फाऊंडर संजयोत कीर, सिंगापुर से डा. संध्या श्रीराम, टीवी कलाकार राजेश कुमार, टीवी कलाकार कल्पना राओ, 11वर्षीय पर्यावरणीय विशेषज्ञ रिधिमा पांडे, पूर्व आईएएस अधिकारी आर.एन. पांडे, अमेरिका में ड्रोन एक्सपर्ट अमित गंजू, कनाडा से मीना सोल्टानगीस, यूएसए में रोबोटिक्स के माहिर डैनियल फिटगिरेल्ड, हारवर्ड इकीगई लॉ के फाऊंडर अनिरूद्ध रस्तोगी, सुखमीत सिंह सहित अन्य उपस्थित हुए और जीवन में इन्होंने किन कठिनाईयों व परेशानियों का सामना कर उच्च मुकाम हासिल किया उसके बारे में विद्यार्थियों से विचार सांझे किए।
उन्होंने बताया कि हजारों की संख्या में उपस्थित जनमान्यगणों में दास एंड ब्राऊन वल्र्ड स्कूल के दसवीं कक्षा के विद्यार्थी गुरशब्दपाल सोढ़ी को मंच पर आमंत्रण किया गया। जिसने अपने विचार पेश करते हुए कहा कि दुनिया में किसी वस्तु को स्वीकार किया जा सकता है। उसने कहा कि सफलता को हासिल करने के लिए चुनौतियों को स्वीकार करके ही कामयाबी हासिल की जा सकती है।
कार्यक्रम में शामिल हुए अध्यापकों स्तुति, पुनीत गोयल, अभिमन्यू ने बताया कि  दास एंड ब्राऊन वल्र्ड स्कूल मे पहले ही  टैड-एड कल्ब का गठन किया जा चुका है, जिसमें  टैक्नोलॉजी इंटरटैनमेंट डिजाइन एजुकेशन -टेडएड- कल्ब के तहत विद्यार्थी  अपने विचारो तथा भावनाओ को दूसरो के साथ सांझा करते है। उन्होंने बताया कि  इसके तहत विद्यार्थियों को अपने विचारो को जनता में वैश्विक रूप से सांझा करने का मौका मिलता है।  बच्चों के रचनात्मक पक्ष को मजबूत करने के लिए तथा उन्हें एक ऐसा वातावरण प्रदान करने के लिए जिसके द्वारा वह सृजनात्मक विचारो को दूसरो के साथ बांटते है। उन्होंने कहा कि बच्चों का दिमाग इतना रचनात्मक होता है कि वह कई बार ऐसी बाते सोच जाते है जो हर कोई नहीं सोच सकता।
विद्यार्थियों गुरशब्द, समायरा कश्यप, जैनिसा, नीकिता, जाहनवी, रघुबीर राणा, गुरसिमरण, खुशदीप कौर, ओजस्वनी, परिनीता, हेमंत शर्मा, तनवी, अतुल्य, कानिश, मेघा ने कहा कि उन्हें इस कार्यक्रम में शामिल होनें के बाद काफी अनुभव प्राप्त हुआ है और उनके दिल में एक लगन पैदा हुई है कि जीवन में एक लक्ष्य निर्धारित करें ताकि सफलता को हासिल किया जा सके। विद्यार्थियों ने कहा कि प्रवक्ताओं के विचार सुनने के बाद उन्होंने सारांक्ष निकाला कि जीवन में आगे बढऩे के लिए सकरात्मकता का होना जरूरी है, जिसके माध्यम से बड़ी कठिनाईयों का भी सामना किया जा सकता है।
वहीं अभिभावकों ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि डीसीएम ग्रुप के स्कूलों में विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ-साथ एक अच्छा लीडर, उनमें उच्च सोच पैदा की जाती है।

Related Articles

Back to top button
Close